Business क्या है? जानिए इसके बारे में पूरी जानकारी ?

Business क्या है? जानिए इसके बारे में पूरी जानकारी ?

साथियों आप गांव से हो या फिर शहर से हो आप लोगों ने बिजनेस का नाम तो थोड़ा वक्त सुना ही होगा। क्योंकि दोस्तों आज की इस पोस्ट के बारे में हम इसी टॉपिक पर बात करने जा रही है। कि बिजनेस क्या है? और इसे कैसे किया जाता है?एवं यह कितने प्रकार का होता है? सब कुछ आपको आज की इस पोस्ट के माध्यम से पता चलने वाला है। इसलिए इस संपूर्ण जानकारी को अपने हाथों में लेने के लिए पोस्ट में अंतर बनी रहे साथियों जब तक जितने भी माता-पिता होती है। वह अपने बच्चों को पढ़ा लिखा कर एक अच्छी जॉब दिलाने की कोशिश करते हैं। मगर ऐसे में बहुत ही कम ऐसे ही माता-पिता भी होते हैं।जो कि अपने बच्चों को बिजनेस करने की एक उचित सलाह का मार्गदर्शन करवाते हैं।

साथियों पढ़ लिख कर एक जॉब करना और उसके द्वारा पैसे कमाना बहुत ही सरल होता है। लेकिन वहीं पर अपना खुद का कोई बिजनेस शुरू कर के लोगों को बेरोजगार देना उतना ही कठिन भी होता है।और आज के समय में इसी वजह से बच्चों को पढ़ा लिखा कर जॉब के लिए प्रेरित करते हैं। लेकिन साथियों हम आपको यहां पर बता दें बिजनेस एक ऐसा दरिया होता है।जिसके माध्यम से आपकी पूरी जिंदगी पलट जाती है यानी कि आप लोग अमीर की गिनती ओं मैं अकाउंट होना शुरू हो जाते हो।और साथियों आज कल जितने भी लोग पैसे वाले हुए हैं उन सभी के पीछे बिजनेस की ही एक भूमिका होती है। तो आज हम इसी के बारे में बात करने वाले हैं।आई ए एस के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर लेते हैं।

Business क्या है? पूर्ण विवेचना

दोस्तों आज के इस टाइम पर बिजनेस को कारोबार धंधा एवं व्यापार जैसे नामों से भी जाना जाता है। साथियों अगर हम बिजनेस की व्याख्या करें तो यह एक ऐसी संस्था मानी जाती है।जहां पर बहुत से लोग एक साथ मिलकर काम करते हैं।और इनका उद्देश्य उत्पादों एवं सेवाओं को बेचकर पैसे कमाना होता है।और एक बिजनेस का मालिक होता है। जो कि लोगों को काम करने के लिए कहता है। उसकी मर्जी से ही कंपनी में सारा काम किया जाता है।वही बिजनेस का मालिक होता है।

एक बिजनेस निजी भी हो सकता है।और नॉन प्रॉफिट भी हो सकता है। या फिर राज्य द्वारा इसका स्वामित्व करते हैं।लेकिन दोस्तों आप दूसरों के नीचे काम नहीं करना चाहते हो आप खुद का कोई बिजनेस करना चाहते हो और बॉस की जिंदगी जीना चाहते हो और लोगों के लिए काम के अवसर यानी कि उन्हें बेरोजगार देना चाहते हो। तो ऐसे में आपको खुद का बिजनेस करना ज्यादा अच्छा रहता है। लेकिन दोस्तो बिना पैसों एवं प्लानिंग के बिजनेस शुरू करना आसान नहीं होता है। इस वजह से लोग ऐसे में जॉब को चुनना काफी ज्यादा पसंद करते हैं।

जानिए बिजनेस के सिद्धांत के बारे में

कोई भी बिजनेस हो उसे शुरू करने के पीछे उसके फंडामेंटल आईडिया होते हैं एवं उसे ही बिजनेस का कांसेप्ट कहते हैं। हां यह बात बिल्कुल सही है कोई भी काम हो उसे करने के लिए प्लानिंग की सबसे ज्यादा जरूरत पड़ती है। यानी कि उसके लिए एक वर्जन तैयार करना फिर उस का गोल सेट करना यह बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। साथियों अगर हम आपको उदाहरण के तौर पर बताएं जैसे कि ola को ही ले ले तो oyo यानी कि यह भारत में सबसे महत्वपूर्ण होटल बुकिंग वेबसाइट होती है। और यह एक ऐसी वेबसाइट है। जो के लोगों को कम दामों के हिसाब से बेहतरीन से बेहतरीन सुविधाएं देने की पूरी कोशिश करती है। और इसलिए इस काम में सफलता भी प्राप्त की है इसी तरह और बिजनेस की भी शुरुआत की जाती है। और उसे एक बेहतरीन कांसेप्ट के मुताबिक विकसित किया जाता है।

बिजनेस के उद्देश्य क्या है?

साथियों कोई भी बिजनेस हो उसका सबसे मुख्य उद्देश्य यही होता है। कि जो भी अपने बिजनेस को नियमित रूप से चलाता रहता है।और काफी लोग उससे जुड़े रहते हैं और उसके द्वारा अच्छा खासा मुनाफा कमाया जाता है।तो वहीं बिजनेस दुनिया में सब से exist हो पाता है। और इसी के आधार पर हम आपको यहां पर बात बता दें लोगों को लगता है बिजनेस से पैसे कमाने के लिए उनका एक गोल होता है। मगर ऐसा कुछ भी नहीं होता है। इसी वजह से हम आपको एकदम क्लीयरली बताने जा रहे हैं जिससे आपकी गलतफहमी भी दूर हो जाएगी।

और साथियों कुछ बिजनेस है।जो कि मात्र प्रॉफिट के लिए ही रन होते हैं तो कुछ वही पर non-profit बिजनेस एसोसिएशन भी होते हैं। दोस्तों अगर हम पारस्परिक बिजनेस मॉडल को देखेंगे तो वहां पर प्रोडक्ट एवं सेवाओं को बिजली का यही मतलब निकलेगा के बिजनेस से अधिक से अधिक पैसों का लाभ कमाया जा सकता है। मगर साथियों हम आज के इस कांसेप्ट मॉडर्न को देखेंगे तो ऐमजॉन एवं फ्लिपकार्ट जैसी और भी बहुत ही मॉडर्न कंपनी कस्टमर सेटिस्फेक्शन पर ज्यादा फोकस दे रही हैं। उदाहरण के तौर पर आप जियो को ही ले लो उसके लॉन्च होते ही पूरे विश्व में तहलका मच गया।

आज किस टाइम पर लाखों करोड़ों की संख्या में जिओ के उपयोग करता है। बिल्कुल उसी प्रकार साथियों कस्टमर सेटिस्फेक्शन भी एक ऐसी चीज मानी जाती है। जो कि आज के इस समय पर किसी भी बिजनेस का आधार बन गई है। तो कोई बिजनेस कितना गिरो कर सकता है। इस बात का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हो कहने का मतलब है कि कोई भी बिजनेस हो अगर उसमें कस्टमर सेटिस्फाई होगा तो किसी भी बिजनेस को सफल होने से कोई भी नहीं रोक सकता।

बिजनेस के कितने प्रकार होते हैं ?

साथियों अब तक आपको बिजनेस से संबंधित कई प्रकार की जानकारी मिल चुकी होगी। अब हम आपको इसके प्रकार के बारे में बताइए नहीं आ रहे हैं। कि बिजनेस कितने प्रकार के होते हैं।मुख्य रूप से बिजनेस को चार भागों में विभाजित किया गया है। आइए उन के बारे में जानते हैं।

(1) manufacturing business

साथियों इस बिजनेस के द्वारा एक उत्पादक प्रोडक्ट्स को प्रोड्यूस करने का काम करता है।एवं उन्हें बेचने के लिए या तो डायरेक्ट किसी कस्टमर से जुड़ता है। नहीं तो किसी मिडिल मैन के माध्यम से उन प्रोडक्ट को बेचकर लाभ कमाता है साथियों अगर आप मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस का उदाहरण समझना चाहते हो तो इसके लिए आप लोग प्लास्टिक एवं फैक्ट्री को ही देख लो जहां पर कई प्रकार के प्रोडक्ट प्रोड्यूस किए जाते हैं। फिर बाद में उन्हें होलसेल के माध्यम से कस्टमर तक पहुंचाया जाता है।

(2) services

सर्वेश यानी की सेवा इसका अर्थ होता है। कि इस बिजनेस में फिजिकल तौर पर कोई भी प्रोडक्ट नहीं बेचा जाता है। बल्कि उसके बदले में सेवाएं प्रदान की जाती है। उदाहरण के तौर पर आप अपने आस-पड़ोस में खरीद डॉक्टर को देख सकती हो वह आपको कोई भी प्रोडक्ट प्रधान नहीं करता है। बल्कि वह आपको अपनी खुद की सर्विस प्रदान करता है। तो यह डॉक्टर का ही एक बिजनेस होता है। उसी प्रकार आप ट्यूशन सेंटर या फिर एजुकेशन एवं फिटनेस ट्रेनर, स्कूल और सैलून,कंसल्टेंसी इस चीज के महत्वपूर्ण उदाहरण होते हैं। और इस प्रकार के बिजनेस में लाभ डायरेक्टर तौर पर यह कमीशन बेस के तौर पर होता है। अगर आप इस बिजनेस को करना चाहते हैं तो ऑलरेडी आपके पास में स्किल्स एवं एक्सपीरियंस होना बेहद आवश्यक है। उसके बाद ही आप लोगों को सेवाएं देकर लाभ कमा सकते हो।

(3) merchandise

Merchandise इस प्रकार का बिजनेस होता है। जिसे आप लोग मिडल मैन बिजनेस स्ट्रेटजी के नाम से भी जान सकते हो यहां पर बिजनेस जिन्हें प्रोडक्ट को बेचना होता है। इसके लिए वह किसी मैन्युफैक्चरिंग होलसेलर या फिर किसी पार्टनर से कांटेक्ट करता है। और फिर बाद में उन प्रोडक्ट को खुद से रिटेल प्राइस पर बेचता है। मुख्य रूप से इस बिजनेस को buy and sell के नाम से भी प्रचलित कर दिया है। क्योंकि दोस्तों यहां पर एक बिजनेस किसी प्रोडक्ट की वास्तविक कीमत से वही उससे कम कीमत में बेच देता है। अगर हम इसके उदाहरण की बात करें तो ग्रॉसरी स्टोर, सुपरमार्केट डिस्ट्रीब्यूटर तू यह है।इसके लिए बहुत ही अच्छे एग्जांपल माने जाते हैं। और merchandise यह एक ऐसा बिजनेस होता है। जो कि ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरीकों से किया ज्यादा है।और बिना किसी इन्वेस्टमेंट के इस में कमाई भी बहुत अच्छी हो जाती है।

(4) hybrid बिज़नेस

दोस्तों यह एक ऐसा बिजनेस होता है। जिसमें दो प्रकार के बिजनेस शामिल होते हैं। और इनके बारे में हम पहले ही बात कर चुके हैं। लेकिन फिर भी एग्जांपल के तौर पर अगर हम रेस्टोरेंट को ले तो यह कई प्रकार के पकवान खुद के द्वारा ही बनाते हैं। और (मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस) इसी के साथ वह पकवानों के अलावा और भी कई चीजें जैसे दिख कोल्ड ड्रिंक,स्नेक्स आदि चीजें भी ( Merchandise business ) बेचता है। तो कुछ इस प्रकार से यह कस्टमर तक अपनी सेवाओं को प्रदान करता है।

आज आपने क्या सीखा?

साथियों यह है। वह बिजनेस तरीके जो आमतौर पर आपको दैनिक जीवन में देखने के लिए मिलते हैं। क्यों हमें उम्मीद है कि आपको बिजनेस के तरीकों के बारे में जानकार बहुत अच्छा लगा होगा अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ एवं सोशल मीडिया जैसे प्लेटफार्म पर जरूर शेयर करें। ताकि और लोग भी बिजनेस के तरीकों के बारे में जान पाए पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

Leave a Comment