SSL certificate क्या है? जानिए इसके बारे में पूरी जानकारी 2022

SSL certificate क्या है? जानिए इसके बारे में पूरी जानकारी 2022

दोस्तों जैसा कि आपको पता ही है। क्या आज के इस टाइम पर इंटरनेट पर काफी सारी वेबसाइट उपलब्ध है। और उन में लॉगिन करने के लिए हमें ईमेल आईडी की आवश्यकता होती है। या फिर जब भी हम कोई शॉपिंग करते हैं। तो उसके लिए हमें अपने बैंक अकाउंट की सभी डिटेल्स देनी पड़ती है। कभी ना कभी आपने भी यह सारे काम किए होंगे मगर आपको यह पता होना चाहिए। कि जो जानकारी आप ने दी है। उसका कोई गलत इस्तेमाल तो नहीं करेगा यह जाना आपके लिए बहुत ही जरूरी होता है। नहीं तो आप बहुत बड़ी गलती कर जाते हो तो इसी चीज के बारे में हम आपको आज की इस पोस्ट में बताने वाले हैं।

दोस्तों अगर आप एक ब्लॉगर हो एवं SEO का काम करते हो तो आज का यह आर्टिकल आपके लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण एवं लाभदायक हो सकता है। और साथ ही हम आपको यह भी बताने वाले हैं। कि SSL certificate का SEO मैं कितना ज्यादा महत्व है। एवं इस सर्टिफिकेट को इस्तेमाल करने पर हमारी वेबसाइट की रैंकिंग में कितना सुधार आ सकता है। इसी वजह से आज के इस पोस्ट में हम आपको एसएसएल सर्टिफिकेट को ऑनलाइन यूजर एवं ब्लॉगर दोनों के लिए बताने जा रहे हैं। इसलिए संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए पोस्ट को आगे तक पढ़ते रहिए।

SSL certificate क्या है?

आपकी जानकारी के लिए हम आपके यहां पर बता दें कि SSL का पूरा नाम या फिर इसकी फुल फॉर्म secure sockets layer होती है और अक्सर आपने देखा हुआ कि जब भी आप किसी वेबसाइट को गूगल में खोलते हो तो उसके सामने आपको http या फिर https लिखा हुआ मिल जाता है। तो उनमें से अगर आप https को खोलोगे तो फिर आपको किसी भी प्रॉब्लम का सामना नहीं करना पड़ेगा यह बिल्कुल सुरक्षित होता है। और यहां पर अगर आप लोग अपनी ईमेल आईडी और बैंक की डिटेल दोगे तो वह बिलकुल सुरक्षित एवं सिक्योर रहेगी।

SSL certificate एक ऐसा जरिया होता है। जिसके द्वारा कोई भी इंटरनेट यूज़र अपनी पर्सनल जानकारी को किसी भी व्यक्ति के अंदर बिल्कुल सुरक्षित तरीके से शेयर कर पाता है। अगर हम किसी टेक्निकल के नाम से जानेंगे तो SSL एक छोटी डाटा फाइल है। और इसे इंटरनेट के अंदर उपयोग किया जाता है। एवं यह एक encryption protocol है। कहने का मतलब है जब किसी SSL को किसी सरवर के अंदर इंस्टॉल करते हैं। तो इसका काम ब्राउज़र एवं वेबसाइट के बीच में कनेक्शन को सिक्योर बनाना होता है। और SSL का इस्तेमाल अनेक कामों के लिए किया जाता है। जैसे कि ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करना, डाटा ट्रांसफर एवं लॉगइन डीटेल्स को सुरक्षित रखना आदि।

Http एवं https मैं क्या अंतर है?

तो दोस्तों अब हम आपको इन दोनों के बारे में अंतर स्पष्ट करने जा रहे हैं। सबसे पहले हम आपको https के बारे में बता दें तो इसकी फुल फॉर्म hypertext transfer protocol secure होती है। और वेबसाइट के अंदर ही यह बताता है। कि यहां पर अपनी पर्सनल डिटेल्स को देना बिल्कुल सुरक्षित है। वहीं पर अगर हम लोग http के बारे में बात करें तो उसका पूरा नाम hypertext transfer protocol होता है। इसका मुख्य काम यहां पर यह बताना है। कि इस वेबसाइट के अंदर आपकी जो पर्सनल जानकारी है। वह सुरक्षित नहीं है। तो यही इन दोनों के बीच में अंतर होता है।

SSL certificate कितने प्रकार का होता है ?

दोस्तों अगर आप लोग भी SSL certificate के बारे में जानना चाहते हो तो हम आपको यहां बता दें कि इससे मुख्य रूप से चार भागों में विभाजित किया गया है। आइए उनके बारे में स्टेप स्टेप समझ लेते हैं।

(1) single domain SSL certificate

दोस्तों इस प्रकार के SSL सर्टिफिकेट को हम मात्र अपने डोमेन नेम के लिए ही SSL install कर सकते हैं। और आप लोगों में से ऐसे बहुत से ऐसे लोग होंगे जो कि डोमिन बनाते होंगे मगर उसके अंदर SSL इंस्टॉल नहीं करते होंगे कहने का तात्पर्य यह है। कि सिंगल डोमेन SSL को केवल डोमेन के लिए ही इनस्टॉल करते हैं। और किसी भी प्रकार के सब्डोमेन के लिए नहीं होता है।

(2) multi domain SSL certificate

दोस्तों यह SSL certificate डोमेन के साथ-साथ सब्डोमेन के लिए भी इंस्टॉल किया जा सकता है। इसके अलावा हम आपको यहां पर बता दें कि हमारी वेबसाइट के अलग-अलग वर्जन होते हैं। तो आपको उन सभी वेबसाइट के अंदर SSL को चालू कर देना चाहिए।

(3) organisation validation SSL certificate

दोस्तों इस का SSL certificate का इस्तेमाल बिजनेस के किसी वेबसाइट को सुरक्षित रखने के लिए करते हैं। कहने का मतलब है कि कस्टमर को अपनी पर्सनल जानकारी देने में किसी भी प्रॉब्लम का सामना ना करना पड़े।

(4) EV SSL certificate

दोस्तों इसकी फुल फॉर्म extended validation SSL certificate होती है। दोस्तों इसे भी बिजनेस के लिए इस्तेमाल किया जाता है।और उसका उपयोग करने से वेबसाइट बिजनेस का एड्रेस बार हरे रंग का दिखाई देता है। इसी के साथ आपको वहां पर बिजनेस का नाम भी देखने के लिए मिल जाता है। और दोस्तों यह एक highly secure SSL certificate माना जाता है।

SSL certificate SEO के लिए कितना जरूरी होता है?

दोस्तों अगर आप लोग अपनी वेबसाइट को गूगल के फर्स्ट पेपर रैंक करवाना चाहते हैं। तो इसके लिए आप की वेबसाइट के अंदर SSL certificate का होना बेहद आवश्यक होता है। आपको इसके बारे में तो पता होगा कि गूगल ने किसी भी वेबसाइट को रैंक करने के लिए 200 से भी ज्यादा फैक्टर बना दिए हैं। लेकिन गूगल इनमें से किसी भी फैक्टर के बारे में बताता नहीं है। और जब सन 2014 में गूगल के एल्गोरिदम में चेंजिंग हुई तो यह निश्चित कर दिया गया जिस वेबसाइट के अंदर SSL certificate होगा वही वेबसाइट सबसे जल्दी रैंक होगी। नहीं तो आपकी वेबसाइट की रैंकिंग डाउन हो जाती है। इसलिए आपको इस बात का विशेष ध्यान रखना पड़ेगा।

आज आपने क्या सीखा?

उम्मीद करता हूं दोस्तों आपको यह जानकारी बहुत ही ज्यादा पसंद आई होगी अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो उसे अपने दोस्तों के साथ और सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें ताकि और लोग भी इस पोस्ट को पढ़ने के बाद कुछ नया सीख पाए तो आज की इस पोस्ट में इतना ही था दोस्तों मिलते हैं अगले किसी नए महत्वपूर्ण आर्टिकल के साथ धन्यवाद।

Leave a Comment